हिन्दी वेबसाइट उद्घाटन

 

” आज 16 अगस्त को श्री एम एस चौहान, अधीक्षण पुरातत्वविद , ने माउस का बटन दबा कर पुरातत्व संग्रहालय वैशाली के वेबसाइट के हिन्दी स्वरुप को जारी किया “”

We cannot display this gallery

 

Learn More

हमारे बारे में

ऐतिहासिक अभिषेक पुष्करनी के उत्तरी तट पर वैशाली संग्रहालय की स्थापना सन् 1971 ई0 में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा विश्व के सबसे प्राचीन गणतंत्र वैशाली क्षेत्र  के पुरातात्विक अवशेषों को सुरक्षित रखने एवं उसे  जनसामान्य […] Continue Reading…

Learn More

प्रदर्शित वस्तुए

इस संग्रहालय में पुरातात्विक स्थल कोल्हुआ स्थित अशोक स्तंभ के इर्द-गिर्द के उतखनित अवशेषों का फाइवर में एक प्रतिरूप प्रदर्शित है, जो इस संग्रहालय का एक प्रमुख आकर्षण है। इसके अतिरिक्त वैशाली उत्खनन से ज्ञात सांस्कृतिक […] Continue Reading…

Learn More

प्रदर्ष मंजूषा – 1 और 2

प्रदर्ष मंजूषा – 1 और 2 : इन दोनों प्रदर्ष मंजूषा में मानव मृण्मूर्तियों को प्रदर्शित किया गया है। प्रदर्ष मंजूषा 1 में 27 एवं प्रदर्ष मंजूषा 2 में 21 पुरावशेषों को प्रदर्शित किया है जिसमें मानव […] Continue Reading…

Learn More

प्रदर्ष मंजूषा – 3 और 4

प्रदर्ष मंजूषा – 3और 4 :   प्रदर्ष मंजूषा 3 और 4 में पशु मृणमूर्तियों को प्रदर्शित किया गया है। प्रदर्ष मंजूषा 3 में 21 तथा प्रदर्ष मंजूषा 4 में 21 मूर्तियों को प्रदर्शित किया […] Continue Reading…

Learn More